GIRIDIHJHARKHAND

संवेदक द्वारा तालाब जीर्णोद्धार कार्य मे अनियमिता की जाने से ग्रामीण हुई गोलबंद

रिपोटर सुनील वर्मा

लघु सिंचाई प्रमंडल गिरिडीह मद से जमुआ प्रखंड़ अन्तर्गत मौजा गांडो लोहरा आहार जीर्णोद्धार कार्य मे संवेदक द्वारा अनियमिता की जाने को लेकर गांडो की ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया है . ग्रामीण मिथलेश विश्वकर्मा सुनील विश्वकर्मा, केदार विश्वकर्मा, पूरन यादव ,संतोष विश्वकर्मा, शंकर विश्वकर्मा, अरबिंद विश्कर्मा , आदि ने बताया कि यह योजना तब कार्य प्रारंभ की गई .जब राज्य में पंचायत चुनाव की घोषणा की गई साथ ग्रामीण विकास मंत्रालय के द्वारा आदर्श आचार संहिता लागू था .

संवेदक द्वारा सभी नियम कानून को ताक पर रखते हुए आनन फानन में वैगर कार्य की शिलान्यास किये .उक्त तालाब के कार्य प्रारंभ कर दिया गया ताकि जैसे – तैसे कार्य कर निकल सकें. क्योंकि हम सभी ग्रामीण पंचायत चुनाव कार्य में व्यस्त थे. इसकी का नाजायज फायदा लेकर संवेदक द्वारा लोहरा तालाब जीर्णोद्धार कार्य शुरु कर दिया. जब हम सभी 16 मई से उक्त तालाब के जीर्णोद्धार कार्य का प्राक्कलित राशि एवं क्या लम्बाई चौड़ाई है. इसकी मांग एवं जानकारी लेने की कोशिश किया तो न तो संवेदक और न ही विभाग की अधिकारी देना मुनासिब समझे बराबर टाल मोटल करतें आ रहें है. जबकि उक्त तालाब की 90 प्रतिशत कार्य जैसे तैसे पूर्ण कर चुका है .

जिला कार्यपालक अभियंता चन्द्रशेखर कुमार को उक्त तालाब जीर्णोद्धार का प्राक्कलन राशि क्या इसकी भी जबाब अस्पष्ट नही कर पाया है संवेदक 60 लाख रुपये तो कनीय अभियंता 90 लाख रुपये बता रहे है संवेदक एवं अभियंताओं द्वारा अलग अलग प्राक्कलन राशि बता रहें इससे साफ प्रतीत होता है यह योजना खाव पकाव बनकर रह गया है .

क्या कहते है विधायक

जमुआ विधायक केदार हाजरा ने कहा कि ग्रामीणों के द्वारा तालाब में चल रहें जीर्णोद्धार कार्य मे संवेदक द्वारा गड़बड़ी की जा रही में अपने स्तर से खुद जांच कर वैसे लोग पर कानूनी कार्रवाई किया जायेगा. लघु सिंचाई कार्यपालक अभियंता चंद्रशेखकर कुमार ने कहा कि कार्य मे लापरवाही करने का सबूत मिला तो कठोर कार्रवाई किया जायेगा योजना की प्राक्कलन क्या है हम अभिलेख देखकर बता सकतें है .

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!