DHANBADJHARKHAND

राजपुरा कोलियरी के बंद खादान में डूबा जमशेद का शव पांच दिन बाद छहलाता मिला, गमगीन हुआ क्षेत्र

मनोज कुमार सिंह ब्यूरो चीफ

राजपुरा  | राजपुरा कोलियारी के बंद खादान में पिछले पांच दिनों से डूबा जमशेद अंसारी का शव मंगलवार को सुबह करीब साढ़े पांच बजे खादान पर तैरते हुआ मिला। शव मिलने की सूचना मिलते ही दर्जनों की संख्या में ग्रामीण मुखिया मो सनोव्वर के नेतृत्व में उसे बाहर निकाला। कुमारधुबी पुलिस को शव बरामद होने की सूचना दे दी गई। सूचना मिलते ही चिरकुंडा अंचल पुलिस निरीक्षक योगेंद्र पासवान, कुमारधुबी ओपी प्रभारी ललन प्रसाद सिंह, गलफरबाड़ी ओपी प्रभारी संजय उरांव दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। इधर शव को पहुंचते ही पूरा रहमत नगर गमगीन हो गया। महिला, पुरुष व जमशेद के साथी उसे देखने के लिए जुटने लगे।

मौके पर नेता गुलाम कुरैसी एवं ग्रामीणों द्वारा पुलिस के समक्ष यह प्रस्ताव रखा गया कि जमशेद को पोस्टमार्टम नही कराया जाय। ग्रामीणों के अनुरोध पर पुलिस ने जमशेद के पिता मो परवेज से लिखित लिए जाने के बाद पोस्टमार्टम नही करने पर सहमति दी। उसके बाद जमशेद का अंतिम संस्कार शिवलीबाड़ी स्थित कब्रिस्तान में किया गया। जितने भी खुले खादान है उसकी सुरक्षा व्यवस्था करें। ताकि भविष्य में किसी भी खादान में ऐसी घटना की पूर्णावर्ती ना हो। सूचना पर उपमुखिया मो मुस्तकीम, जिप सदस्य प्रतिनिधि नागेंद्र कुमार, मो कौसर, मो आलम आदि मौजूद थे।

बता दे कि बीते शुक्रवार जमशेद अपने दोस्तों के साथ राजपुरा कोलियरी के बंद खादान में नहाने गया था। इसी दौरान गहरे पानी मे चल जाने से वह डूब गया था। जिसके बाद शनिवार से सोमवार शाम तक एनडीआरएफ की टीम द्वारा जमशेद को खोज निकालने का काफी प्रयास किया गया था। परंतु सोमवार की शाम तक उसका पता नही चल पाया था। जिसके बाद एनडीआरएफ की टीम वापस लौट गई।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!