JHARKHAND

माओवादी संगठन के हार्डकोर नक्सली किया प्रशासन के समक्ष आत्मसमर्पण

आत्म समर्पण नीति नई दिशा के तहत लोहरदगा न्यू पुलिस लाइन में बुधवार को माओवादी संगठन के हार्डकोर नक्सली उपायुक्त एवं पुलिस कप्तान के समक्ष किया आत्मसमर्पण लोहरदगा न्यू पुलिस लाइन में भाकपा माओवादी संगठन के हार्डकोर नक्सली सूरजनाथ खेरवार ने सरकार की आत्मसमर्पण नीति नई दिशा के तहत बुधवार को आत्मसमर्पण किया। मौके पर उपायुक्त वाघमारे प्रसाद कृष्ण ने कहा सरकार की नीति उग्रवादी संगठन के लिए काफी लाभदायक है। जो मुख्यधारा से जुड़ने का अवसर प्रदान करती है। बताते हुए उन्होंने कहा अन्य उग्रवादियों को इस धारा से जुड़ कर जीवन सवारने का अवसर प्रशासन की ओर से सरकार की नीति के तहत दिया जाएगा।

साथ ही उन्होंने कहा उन उग्रवादियों के लिए जीवन वरदान साबित होगा जो इस नीति को अपना कर अपने मुखयधारा से जुड़ परिवार के भविष्य सवारने का कार्य कर सकते हैं। आयोजित आत्म समर्पण नीति कार्यक्रम के दौरान पुलिस कप्तान प्रियंका मीना ने बताया कि डबल बुल अभियान के तहत अतिनक्सल प्रभावित क्षेत्र में लगतार उग्रवादियों के विरुद्ध जिला पुलिस,जगुआर,कोबरा,सैट के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा था। जिसमें कुछ उग्रवादियों को अपना जीवन मुठभेड़ के दौरान गबाना पड़ा। और कुछ माओवादी संगठन के उग्रवादी गिरफ्तार हुए। जिसको लेकर माओवादी संगठन के एरिया कमांडर सूरजनाथ खेरवार रविन्द्र गंझू के दस्ते से निकल खुद को बचाते हुए प्रशासन के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

आत्म समर्पण के दौरान हार्डकोर नक्सली को पुष्पगुच्छे एवं सरकार नीति के तहत दिए जाने वाले राशि में से एक लाख का चेक प्रदान किया गया। अभियान एस पी ने बताया कि डबल बुल अभियान बुलबुल गांव के नाम पर रखा गया है। जिसके तहत उन जंगली क्षेत्र में उग्रवादियों के विरुद्ध संयुक्त सर्च अभियान में मुहं तोड़ जवाब दिया गया। जिसमें कुछ लोग आज भी पुलिस के नजर से छुपते फिर रहें है। जिसपर आगे भी कारवाई किया जाएगा। साथ ही बताया गया कि हार्डकोर नक्सली पेशरार थाना अंतर्गत बुलबुल ग्राम निवासी बालकिशुन खेरवार का पुत्र है। जो मुखयधारा से भटक कर संगठन का दामन थाम लिया था। सूरजनाथ खेरवार लोहरदगा स्थित संचालित शांति आश्रम में कक्षा एक में अध्ययनरत था। 2013-14 में भाकपा माओवादी संगठन के रविन्द्र गंझू द्वारा प्रत्येक गांव से एक एक बच्चा का मांग किया गया था। और परिजनों को धमकी दी गई थी।

जिसके डर से लोग मुखयधारा से भटक गए और संगठन के लिए कार्य करना आरम्भ कर दिया। जानकारी देते हुए बताया गया कि माओवादी के एरिया कमांडर सुरजनाथ खेरवार पेशरार थाना के अलावे सेरेंगदाग,विशुनपुर,चंदवा थाना में विभिन्न कांडों में संलिप्त होने की पुष्टि की गई है। वही सुरजनाथ खेरवार ने कहा कि संगठन में मतभेद हावी हो गया है। सभी लोग अपने अपने स्वार्थ के लिये कार्य कर रहे हैं।बस्ता सदस्यों को सिर्फ खाना मिलता है। और कुछ नही अधिक दबाव व शोषण किया जाता है। हम सभी उग्रवादियों से अपील करते हैं। कि आत्मसमर्पण कर सरकार द्वारा पुर्नवास नीति का लाभ उठायें और सम्मान के साथ गाँव, घर समाज के रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!