JHARKHAND

बुढ़िया माता मंदिर को पर्यटन स्थल बनाने की मांग

सुनील शर्मा इचाक प्रखंड से रिपोर्टर

इचाक के ऐतिहासिक बुढिया माता मंदिर को पर्यटन स्थल बनाने की मांग भाजपा के वरिष्ठ नेता बटेश्वर प्रसाद मेहता ने सरकार से की है। इसके लिए श्री मेहता ने मुख्यमंत्री झारखंड तथा पर्यटन विभाग को कई बार चिट्ठी भेजा है। जिसमे लिखा है कि इचाक हजारीबाग जिला का ऐतिहासिक धरोहर है। इचाक मे राजा महाराजाओ द्वारा बनाया हुआ सैकडो धरोहर है। जो जीर्णशीर्ण अवस्था में पड़ी हुई है। यदि इचाक के ऐतिहासिक बुढिया माता मंदिर को पर्यटन स्थल बनाया जाता है, तो यहां के लोगो के लिए रोजगार का एक सुनहरा अवसर मिलेगा। प्रखण्ड के मुख्य बाजार परासी पंचायत में स्थित है।

जहा लक्ष्मीनारायण बडा अखाडा, श्रीराम जानकी छोटा अखाडा, बंशीधर कोठी, भगवती मठ, बनास टांड़ मन्दिर, ऐतिहासिक सूर्यमन्दिर, रानीपोखर, सूर्य मन्दिर तालाब, तथा राजा का गिरा हुआ किला का सिंह दरवाजा सभी जिणशीर्ष अवस्था मे है। उन्होंने बताया कि राजा के किला से होते हुए भूमिगत रास्ता बनाया गया था। जो सीधा सूर्यमन्दिर मे निकलता था । इसी रास्ते से रानी अपने लव लश्कर के साथ सूर्यमन्दिर पूजा अर्चना के लिए जाती थी । श्री मेहता ने इस संबंध मे रामगढ राजा के वारिस और हजारीबाग के पूर्व विधायक सौरभ नारायण सिंह से भी हमने कई बार मुलाकात कर राजा के ऐतिहासिक धरोहरो को संजोने संवारने की बात कही है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!