JHARKHAND

रक्षामंत्री ने ‘अग्निपथ’ भर्ती योजना को किया लॉन्च, जानिए क्या है ये स्कीम

रक्षामंत्री- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना के प्रमुखों की मौजूदगी में आज अग्निपथ योजना का ऐलान किया। इस योजना के तहत युवाओं को भारतीय सेना में सेवा करने का मौका मिलेगा। इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा पिछले कुछ वर्षों में भारतीय रक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए कई अहम फैसले लिए हैं। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय सेनाओं को विश्व की बेहतरीन सेना बनाने के लिए ये फ़ैशला लिया गया है।अग्निपथ नामक एक योजना ला रहे हैं, जिसके जरिए सेना का आधुनिकीकरण किया जाएगा। यह योजना देश की सुरक्षा को मजबूत करने और युवाओं को मिलिट्री सेवा करने का मौका देगी। पूरा देश आर्म्ड फोर्सेस को सम्मान के नजरिए से देखते हैं, अपने जीवन काल में हर कोई सेना की वर्दी एक बार पहनने का सपना होता है।

रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

राजनाथ सिंह ने कहा कि अग्निपथ योजना से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। इसके द्वारा अर्जित क्षमता और अनुभव उन्हें भविष्य में मदद करेगा। अग्निवीरों के लिए एक अच्छा पे पैकेज, चार साल के बाद सेवा पैकेज की व्यवस्था की गई है। लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने अग्निपथ स्कीम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 17.5 वर्ष से 21 वर्ष के युवाओं को अग्निवीर बननने का मौका मिलेगा। वह चार साल तक अपनी सेवाएं दे सकेंगे। देश सेवा का यह अवसर बहुत ही खास है। इस योजना के तहत युवाओं के पास एक मौका है जब वह अपने देश की सेवा कर सके।

 योग्यता

अग्निवीरों की भर्ती देशभर में होगी और हम सबसे बेहतरीन युवाओं को भर्ती करेंगे, उन्हें मेरिट के आधार पर भर्ती किया जाएगा। अग्निवीर को आवेदन के लिए कम से कम 12वीं पास होना जरूरी है और उसकी उम्र 17.5 से 21 वर्ष के बीच होनी चाहिए। पहले चरण में अग्निवीरों को 4 साल के लिए भर्ती किया जाएगा। इसके बाद 25 फीसदी अग्निवीरों को आगे की सेवा में जारी रखा जाएगा।

सैलरी कितनी मिलेगी

अग्निवीरों को 10 हफ्ते से 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इन जवानों को होलोग्राफिक, नाइट फायर कंट्रोल सिस्टम की तकनीक से लैस किया जाएगा। साथ ही हैंड हेल्ड टार्गेट सिस्टम भी की भी जवानों की ट्रेनिंग दी जाएगी। जो अग्निवीर अग्निपथ योजना के तहत भर्ती किए जाएंगे उन्हे पहले साल 30 हजार रुपए प्रति माह की सैलरी दी जाएगी, चौथा साल पूरा होते हुए सैलरी 40 हजार रुपए प्रति माह तक पहुंच जाएगी। इसमे से 30 फीसदी सैलरी का हिस्सा बचत के तौर पर रखा जाएगा, इसे सेवा निधि के तौर पर जमा किया जाएगा, इतनी ही राशि सरकार की ओर से इसमे जमा की जाएगी। वहीं 70 फीसदी सैलरी जवान के खाते में जागी। चार साल पूरा होने के बाद जवान को 10-12 लाख रुपए मिलेंगे, जोकि पूरी तरह से टैक्स फ्री होगा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!