Month: April 2022

  • झारखंड सरकार का नया नियम, इन्हे नहीं मिलेगी सब्सिडी, पढ़े पूरी खबर

    राज्य सरकार ये साफ़ रूप से स्पष्ट कर दिया है कि कैबिनेट के फैसले के आधार पर 400 यूनिट से अधिक खपत करने वाले लोगो को सर्कार के द्वारा सब्सिडी नहीं देने की व्यवस्था लागू हो गयी है । कैबिनेट का फैसला संकल्प जारी होने के साथ ही ये राज्य में लागु हो जाता है। इसलिये इसे एक अप्रैल से लागू करने की बाध्यता सरकार पर नहीं है। उल्लेखनीय है कि उपभोक्ताओं की ओर से अप्रैल में प्राप्त हुए मार्च के बिल में चार सौ यूनिट से अधिक खपत पर सब्सिडी शून्य किये जाने की शिकायत की गई। यह सरकार तक पहुंची।

    राज्य सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि कैबिनेट के फैसले के आधार पर 400 यूनिट से अधिक खपत करने पर सब्सिडी नहीं देने की व्यवस्था लागू कर दी गई है। कैबिनेट का फैसला संकल्प जारी होने के साथ ही लागू हो जाता है। इसलिये इसे एक अप्रैल से लागू करने की बाध्यता नहीं है। उल्लेखनीय है कि उपभोक्ताओं की ओर से अप्रैल में प्राप्त हुए मार्च के बिल में चार सौ यूनिट से अधिक खपत पर सब्सिडी शून्य किये जाने की शिकायत की गई। यह सरकार तक पहुंची।

    ऊर्जा विभाग की ओर से स्पष्ट कर दिया गया है कि 400 से अधिक बिजली खपत करने पर सब्सिडी नहीं मिलेगी और निर्धारित दर पर पूरी खपत का बिल चुकाना होगा। यदि किसी उपभोक्ता का बिजली बिल 450 यूनिट आया है तो उसे इस पूरी खपत का भुगतान बिना सब्सिडी के करना होगा। ऐसे उपभोक्ता को एक भी यूनिट के लिये सब्सिडी नहीं मिलेगी। लेकिन अगले महीने जब बिजली की खपत 400 यूनिट से कम होगी तो सब्सिडी का लाभ मिलेगा।

  • चिरकुंडा के डुमरीजोड़ में सड़क धंसी, इलाके में फैली दहशत अवैध खनन के कारण धंसान का अनुमान लगा रहे लोग, जांच में जुटी पुलिस

    चिरकुंडा थाना क्षेत्र के डुमरीजोड़ में लगभग 15 से 20 फीट तक ग्रामीण सड़क धंस गई है. 21 अप्रैल गुरुवार को खबर फैलते ही इलाके में दहशत का माहौल है. स्थानीय पुलिस प्रशासन छानबीन में जुटा है. इधर दबी जुबान में लोग कह रहे हैं कि अवैध खनन के कारण सड़क धंसी है. हालांकि धंसान से कोई क्षति नहीं हुई है.

    जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह अचानक 15-20 फीट के दायरे में सड़क धंस गई. इसके बाद अफरातफरी मच गई. यह सड़क मुख्य रूप से कई गांवों को जोड़ती है. इसीलिए स्थानीय लोग चिंतित हैं. खबर पाकर चिरकुंडा पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार पहुंचे और छानबीन में जुट गए हैं. थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है. पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि अवैध खनन के कारण तो यह धंसान नहीं है. बताते चलें कि पिछले वर्ष भी इसी तरह का धंसान क्षेत्र में देखा गया था.

  • झारखंड में कोयला चोरो के आगे पुलिस भी पड़ी बेबस, जाने क्या है पूरा मामला

    धनबाद | कोयला चोरों के आगे पुलिस-प्रशासन बेबस नजर आ रहे हैं. ऐसा लगता है कि कोयला चोरों का सिंडिकेट जो कुछ चाहेगासेहर मई वही सब होगा. इसका ताजा उदाहरण खरखरी ओपी के सिपाही संतोष राम की बुरी तरह पिटाई है. सिपाही की पिटाई के बाद सैप के जवानों ने घेराबंदी कर बांसजोड़ा बस्ती के जिन तीन कोयला चोरों को पकड़ा था, खरखरी पुलिस ने मंगलवार की देर रात पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया. परिसर में सिपाही संतोष राम की बेरहमी से पिटाई की यह घटना दिनदहाड़े हुई थी.

    एएसआइ सत्येंद्र सिंह घटना के गवाह हैं. उस वक्त ओपी में ये दोनों ही मौजूद थे. सिपाही के चीखने-चिल्लाने पर सत्येंद्र सिंह दौड़कर बचाने आये थे. बावजूद पुलिस के वरीय अधिकारियों द्वारा कोयला चोरों को छोड़ने का आदेश समझ से परे है. इस मामले में पूछे जाने पर ओपी प्रभारी दिनेश मुंडा ने कहा कि फिलहाल घटना की जांच चल रही है. जांचोपरांत आवश्यक कार्रवाई की जायेगी.

    अपने ही सिपाही की पिटाई की प्राथमिकी तक दर्ज नहीं :

    पूरे मामले में कोयला चोर शुरू से ही पुलिस पर हावी रहे. प्रकरण ने कोयला चोरों व सिंडिकेट से पुलिस के याराना की पोल-पट्टी खोलकर रख दी है. आखिर पुलिस पर हमला करने वालों को छोड़ना कौन-सी मजबूरी थी. दीगर यह कि सिपाही की पिटाई के मामले में खरखरी ओपी पुलिस ने कांड तक अंकित करना जरूरी नहीं समझा.

    यही नहीं, पुलिस साफ-साफ कुछ भी बताने से परहेज कर रही है. पत्रकारों के कई बार पूछे जाने पर भी पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को आरोपियों के नाम नहीं बताये थे. बताते चलें कि पुलिस द्वारा 10 बोरा कोयला जब्ती के विरोध में चार युवकों ने ओपी परिसर में घुसकर सिपाही की पिटाई कर दी थी. जवान को ओपी परिसर से घसीट-घसीट कर पीटा गया. सैप जवानों ने चार में से तीन आरोपियों को पकड़ लिया था.

  • एग्यारकुण्ड़ प्रखंड सह अंचल कार्यालय के सभागार में सभी थाना और ओपी प्रभारी के साथ बैठक किया गया

    एग्यारकुण्ड़ प्रखंड सह अंचल कार्यालय में बुधवार को सभागार कक्ष में पंचायत चुनाव के संबंध में सुरक्षा व्यवस्थाओं को देखते हुए सभी थाना एवं ओपी प्रभारियों के साथ बैठक प्रखंड विकास पदाधिकारी विनोद कुमार कर्मकार की अध्यक्षता में की गई। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारियों विनोद कुमार कर्मकार द्वारा सभी थाना और ओपी प्रभारी को क्षेत्र में शांतिपूर्ण रूप से चुनाव करवाने को लेकर दिशा निर्देश दी गई ।

    बैठक में अंचल अधिकारी अमृता कुमारी गलफरबाड़ी ओपी प्रभारी संजय कुमार उरांव , चिरकुंडा थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार सिंह, मैथन थाना प्रभारी माइकल कोड़ा, कुमारधुबी ओपी प्रभारी ललन प्रसाद सिंह सहित पंचायत सेवक उपस्थित थे।

  • गिरिडीह मुफ्फसिल क्षेत्र में एक्साइज का छापा

    गिरिडीह | बुधवार को गिरिडीह मुफ्फसिल थाना क्षेत्र में उत्पाद विभाग का छापा पड़ा। छापेमारी अभियान गिरिडीह उत्पाद अधिक्षक सुधीर कुमार के निर्देश पर उत्पाद निरीक्षक बिनोद कुमार सिंह की अगुआई में टीम गठित कर अकदोनी और चिलगा गांव में छापा मारा जहां से एक क्विंटल जावा महुआ और कई लीटर अवैध महुआ शराब बरामद किया गया। छापेमारी के दौरान महुआ शराब बनाने की भट्ठी को ध्वस्त किया गया और शराब बनाने के यंत्र को जप्त किया गया। छापेमारी अभियान के वारे में विस्तृत जानकारी देते हुए उत्पाद निरिक्षक बी के सिंह ने कहा कि गिरिडीह में किसी भी कीमत पर अवैध शराब बिक्री और निर्माण को फलने फूलने नही दिया जाएगा। छापेमारि आभियान लगातार चलाई जाएगी। छापेमारी अभियान के दौरान शराब के तीन अवैध धंधेबाज को गिरफतार कर चालान जमा करवा कर और कई भागने में कामयाब रहे जिसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। आज के इस आभियान में जिला पुलिस बल जवान और गृह रक्षा वाहिनी जवान शामिल थे।

  • 290335 मतदाता करेंगे अपने मताधिकार का प्रयोग

    त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2022 के द्वितीय चरण के संबंध में आज जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त श्री संदीप सिंह ने पत्रकार वार्ता का आयोजन कर पंचायत चुनाव के द्वितीय चरण की सूचना प्रपत्र 5 में निर्गत की तथा निर्वाचन कार्यक्रम के संबंध में मीडिया को विस्तार से जानकारी दी। द्वितीय चरण में बाघमारा व धनबाद में मतदान होगा। उन्होंने बताया कि नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट (एनआई एक्ट) के तहत सार्वजनिक अवकाश (रविवारीय अवकाश सहित) की तिथि को छोड़कर, नामांकन की तिथि 21 से 27 अप्रैल तक दिन के 11:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक तथा 28 से 30 अप्रैल तक नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी।

    2 मई 2022 को दिन के 11:00 बजे से अपराह्न 3:00 बजे तक नाम वापसी तथा 4 मई को चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जाएगा।19 मई को प्रातः 7:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक मतदान होगा। 22 मई को राजकीय पोलिटेकनिक में मतगणना की जाएगी।द्वितीय चरण के मतदान के लिए 606 भवन में 786 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इसमें 103 सामान्य, 486 संवेदनशील तथा 197 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र है। जहां 154253 पुरुष, 136081 महिला व एक थर्ड जेंडर सहित कुल 290335 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। द्वितीय चरण में जिला परिषद के आठ, पंचायत समिति सदस्य के 79, मुखिया के 73 तथा वार्ड सदस्य के 786 पदों सहित कुल 946 पदों के लिए मतदान होगा। जिसमें 542 पद महिलाओं के लिए रहेंगे।

    पंचायत चुनाव के नामांकन के लिए वार्ड सदस्यों को स्वघोषणा परिशिष्ट 3 में करनी होगी। मुखिया, पंचायत समिति सदस्य तथा जिला परिषद सदस्यों को परिशिष्ट 4 के साथ शपथ पत्र प्रथम श्रेणी के दंडाधिकारी या नोटरी के समक्ष दाखिल करना होगा। सभी पदों के लिए प्रपत्र 29 में शपथ पत्र दाखिल करना होगा। वार्ड सदस्य स्वसत्यापित शपथ पत्र प्रपत्र 29 में समर्पित करेंगे। मुखिया, पंचायत समिति सदस्य तथा जिला परिषद के सदस्य प्रपत्र 29 में शपथ पत्र नोटरी या अन्य पदाधिकारी के समक्ष सत्यापित कराएंगे।

    नामांकन के लिए सामान्य श्रेणी के वार्ड सदस्य के लिए एक सौ रुपया, मुखिया ₹250, पंचायत समिति सदस्य ₹250 तथा जिला परिषद सदस्य के लिए ₹500 शुल्क निर्धारित है। महिला, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति या ओबीसी के लिए नामांकन शुल्क में 50% की रियायत है। पंचायत चुनाव में राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन व्यय की सीमा भी निर्धारित की गई है। वार्ड सदस्य के लिए ₹14000, मुखिया के लिए ₹85000, पंचायत समिति सदस्य के लिए ₹71000 तथा जिला परिषद सदस्य के लिए ₹214000 की अधिकतम सीमा निर्धारित है।

    एसएसपी श्री संजीव कुमार ने कहा कि मतदान को भयमुक्त, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए प्रखंड स्तरीय कंट्रोल रूम के साथ जिला स्तरीय कंट्रोल रूम भी कार्यरत रहेगा। अनुमंडल पदाधिकारी तथा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी व अन्य सुरक्षा बल शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए कार्यशील रहेंगे। नियमित पेट्रोलिंग जारी रहेगी। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए क्विक एक्शन टीम मुस्तैद रहेगी। सभी बूथों पर पर्याप्त सुरक्षा की व्यवस्था रहेगी।

    पत्रकार वार्ता में जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त श्री संदीप सिंह, एसएसपी श्री संजीव कुमार, डीडीसी श्री शशि प्रकाश सिंह, एसडीओ श्री प्रेम कुमार तिवारी, उप निर्वाचन पदाधिकारी श्री मृत्युंजय कुमार पांडेय, जिला पंचायती राज पदाधिकारी श्री अजीत कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी श्री सुशांत मुखर्जी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ईशा खंडेलवाल शामिल थे।

  • चतरा में बेलगाम रफ्तार का कहर, दुर्घटना में बाईक सवार की दर्दनाक मौत

    BREAKING : चतरा में बेलगाम रफ्तार का कहर। अनियंत्रित हाइवा ने बाईक सवार को मारी टक्कर, दुर्घटना में बाईक सवार की दर्दनाक मौत। प्रतापपुर थाना क्षेत्र के जोरी मुख्यपथ स्थित निजरा मोड़ ईलाके की घटना। करमा पंचायत अंतर्गत लीचरी गांव के रहने वाले थे बाइक सवार। दुर्घटना के बाद हाइवा भी हुआ दुर्घटनाग्रस्त। घटना के विरोध आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चतरा-प्रतापपुर मुख्यपथ जाम। घटनास्थल पर पहुंची वशिष्ठ नगर थाना पुलिस, हाईवा जब्त कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा सदर अस्पताल।

  • हजारीबाग : दामोदर बालू घाट बम के धमाके से थर्राया, हमले की जताई जा रही आकांशा

    हजारीबाग | हजारीबाग जिले के गिद्दी थाना क्षेत्र के दामोदर नदी बालू घाट बमबाजी और फायरिंग के धमाके से पूरा इलाका जोरो से जुंग उठा। मंगलवार रात्रि सशस्त्र हमलावरों ने बालू घाट पर जमकर उपद्रव किया। घटना रात्रि तकरीबन साढ़े 9 बजे की है। करीब 15 की संख्या में पहुंचे अपराधियों ने पहले यहां अंधाधुंध फायरिंग कर के लोगो के मैं डर का माहोल बना दिया और उसके पोकलेन मशीन में बम मारकर आग लगा दी।

    इससे पहले सशस्त्र हमलावरों ने पोकलेन के ऑपरेटर और हेल्पर को बांध कर बुरी तरह से पीटा। तकरीबन आधे घंटे तक बालू घाट में उत्पात मचाने के बाद हमलावर ऑपरेटरों को कड़ी चेतावनी देते हुए जिस रास्ते आए थे, उसी रास्ते लौट गए। बुधवार की सुबह भुरकुंडा और गिद्दी थाना की पुलिस मौका-ए-वारदात पर पहुंची।

    पहले तो यहां थाना की सीमा को लेकर दोनों थाना क्षेत्र की पुलिस संशय में रही। बाद में गिद्दी पुलिस ने घटना को अपने ज्यूडिशियल क्षेत्र में मान कर अनुसंधान शुरू किया। घटना स्थल से पुलिस ने रात की घटना से जुड़े अवशेष बरामद किए हैं। वहीं अज्ञात हमलावरों की टोह में गिद्दी पुलिस छापामारी कर रही है।

  • धनबाद : सरकारी योजना के तहत हुई सरकारी पैसों का गबन

    धनबाद | आपको बता दे की पंडरा पश्चिम पंचायत के मुखिया रोबिन धीवर के खिलाफ पंचायत के उपमुखिया तारक नाथ मालाकार ने मोर्चा खोलते हुए मुखिया के द्वारा पंचायत में किया सभी योजना में हुई गड़बड़ी और सरकारी पैसों का गबन का किया खुलासा। उपमुखिया का कहना है की उनके द्वारा आरटीआई फाइल किया गया था और आरटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक मुखिया के द्वारा की गई योजनाओं में काफी गरबरी देखी गई है जिसमे पंचायत सेवक भी शामिल रहे।

    सोचालय से लेकर पीसीसी सड़क,सामुदायिक भवन,लगभग सभी योजनाओं को कागज कलम में तो सबकुछ सही दर्शाया जा रहा है परंतु धरातल में इसकी सच्चाई कुछ और ही निकली,मुखिया के द्वारा दूसरी पंचायत के लोगो को लाभुक समिति में चयन कर दिया गया ठेका, यहा तक की मुखिया जी अपने ही भगना को पंचायत का ठेकेदार बनाने से बाज नहीं आए।उपमुखिया ने मीडिया के सामने मुखिया रोबिन धीवर के एवं पंचायत सेवक के मिलिभकत से पंडरा पश्चिम पंचायत में योजना में गड़बड़ी और सरकारी पैसों कि गबन का आला अधिकारिओ से जांच करने की आवेदन किए।

  • सड़क दुर्घटना में एक महिला की मौत

    ठाकुर गंगटी थाना क्षेत्र में हुए सड़क दुर्घटना में एक महिला की घटना स्थल पर मौत हो गई । इस घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने भगैया स्थित सरकारी चेकनाका को अपना निशाना बनाते हुए जमकर तोड़ फोड़ कर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया । वही पुलिस प्रशासन के साथ भी ग्रामीणों ने हाथापाई की जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया। वही इस घटना के दौरान समाचार संकलन करने गए एक पत्रकार के साथ भी ग्रामीणों ने दुर्बेहवार की । वहीं घटना की सूचना मिलते ही साहेबगंज सदर इंस्पेक्टर एस बी चौधरी अपने दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच उग्र ग्रामीणों को समझा बुझा कर मामले को शांत कराया ।

    दरअसल मामला गोड्डा जिले के ठाकुर गंगटी थाना क्षेत्र में सड़क दुर्घटना को लेकर था जहां बाराहाट से एक ट्रक भगैया की ओर आ रहा था इसी क्रम में भगैया हाट के समीप एक वृद्ध महिला को कुचल दिया जिससे महिला की मौत घटना स्थल पर ही हो गई।
    ऐसे में आस पास ग्रामीण का माहौल पूरा आक्रोशित एवं उग्र हो गया। उग्र ग्रामीण के द्वारा सड़क पर खड़ा भारी वाहनों को भी अपना शिकार बनाया जिसमें वाहन के शीशा चकनाचूर कर दिया तथा गाड़ी का हवा निकाल दिया गया साथ ही घटना स्थल से काफी दूर मिर्जाचौकी थाना क्षेत्र का बैरियर पर पहुंच कर काफी तोड़ फोड़ किया गया वहां लगा सीसीटीवी कैमरा तथा उसका सारा उपकरण कुर्सी कागजात सही रखा अन्य समान को भी नुकसान किया गया। वहीं मामले को लेकर साहेबगंज सदर इंस्पेक्टर एसबी चौधरी ने बताया कि उग्र ग्रामीणों के द्वारा प्रशासन के साथ गलत व्यवहार किया तथा सरकारी संपति को नुकसान पहुंचाया गया है प्रशासन अपने तरीके से कारवाई करेगी।

Back to top button
error: Content is protected !!