Month: March 2022

  • हजारीबाग: पत्नी की हत्या करने के बाद आरोपी पति पारसनाथ से गिरफ्तार

    हजारीबाग। पत्नी (wife) की गोली मार कर हत्या करनेवाले आरोपी पति राजेश सोनकर और उसकी मां प्रभा देवी को बड़ाबाजार पुलिस ने 48 घंटे के अंदर पकड़ लिया है . आरोपी के पास से पत्नी वंदना की गोली मारकर हत्या करने में प्रयुक्त पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, दो मैगजीन और मोबाइल जब्त की है। वह पत्नी को गोली मारकर कोडरमा व पारसनाथ भाग गया था. पुलिस की दबिश के कारण वह वापस हजारीबाग न्यू बस स्टैंड पहुंचा. इसी दाैरान पुलिस ने आरोपी को पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आरोपी राजेश और मां प्रभा देवी को जेल भेज दिया.

    पत्नी की हत्या करने के लिए राजेश ने खरीदा था पिस्टल :

    सदर एसडीपीओ महेश प्रजापति ने बताया कि पति -पत्नी के बीच हमेशा विवाद होता था. आरोपी राजेश सोनकर ने पत्नी की हत्या करने के लिए 10 हजार में पिस्टल व कारतूस खरीदा था. आरोपी राजेश मेन रोड में ठेला लगा कर सामान बेचता था. उसने दूसरे ठेला वाले से पिस्टल दिलाने की बात कही.उसे 10 हजार में किसी व्यक्ति से पिस्टल और कारतूस दिलाया गया. एसडीपीओ ने कहा कि आरोपी राजेश पत्नी को गोली मारने के बाद फरार हो गया था. मां प्रभा देवी ने कमरे में खून के निशान को मिटा कर दूसरे घर में चली गयी थी. पूछताछ में उसने पुलिस को घटना से संबंधित कोई जानकारी नहीं दी.

    गहन पूछताछ के बाद उसने घटना की पूरी जानकारी दी. पुलिस के अनुसार, राजेश सोनकर ने जब अपनी पत्नी को गोली मारी थी, तो उस समय उसकी मां घर में ही थी. एसडीपीओ ने कहा कि घटना को अंजाम देनेवाले आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर एसपी मनोज रतन चोथे ने टीम का गठन किया था. इसका नेतृत्व सदर अंचल इंस्पेक्टर ललित कुमार ने किया. टीम में टीओपी प्रभारी योगेंद्र मिश्रा समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी शामिल थे. गाैरतलब हो कि शहर के मल्लाह टोली मुहल्ला में 25 मार्च को राजेश सोनकर ने पत्नी की गोली मार कर हत्या कर दी थी. इसके बाद से वह फरार हो गया था.

     

     

  • झारखंड : पूर्व मंत्री बंधु तिर्की की आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में आज फैसला

    रांची। पूर्व मंत्री बंधु तिर्की से जुड़े आय से अधिक संपत्ति मामले में आज सीबीआइ कोर्ट का फैसलाआने वाला है । बंधु तिर्की पर मंत्री रहते छह लाख रुपये आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगा है। झारखंड हाइकोर्ट में मामला सामने आने के बाद 11 अगस्त 2010 को सीबीआइ ने प्राथमिकी दर्ज की थी। 16 जनवरी 2019 को बंधु तिर्की पर आरोप गठित हुआ था की उनके पास आय से अधिक संपत्ति है । अगर आज सीबीआइ (cbi) कोर्ट के फैसले में बंधु तिर्की को दो साल से अधिक की सजा हुई तो उनकी विधायकी चली जाएगी। आपको बता दें कि बंधु वर्तमान में कांग्रेस के विधायक हैं।

    बता दें कि बंधु तिर्की के खिलाफ आय से छह लाख 28 हजार 698 रुपए अधिक अर्जित करने का आरोप है। वह इस मामले में जेल जाने के बाद जमानत पर चल रहे हैं। सीबीआइ ने बंधु तिर्की के खिलाफ कोड़ा कांड में 11 अगस्त 2010 को आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी।

    सीबीआई के विशेष जज पीके शर्मा की अदालत ने पिछले दिनों बंधु तिर्की को बहस प्रारंभ करने का निर्देश दिया था। मामले में सीबीआई की ओर से 6 दिसंबर 2019 को ही बहस पूरी होने के बाद बंधु तिर्की का बयान दर्ज किया गया था। बयान के बाद उनकी ओर से अपने बचाव में गवाहों को पेश किया गया। 5 मार्च 2020 को गवाही बंद होने के बाद मामला बहस पर चला गया। कोविड-19 के प्रकोप के कारण मामले की सुनवाई प्रभावित रही। हालांकि कोर्ट की सख्ती के बाद सुनवाई में तेजी आई। आज सीबीआइ कोर्ट में बंधु तिर्की पर फैसला आएगा।

     

     

  • धनबादः प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने पति को उतरा मौत के घाट

    धनबाद | झारखंड के धनबाद(Dhanbad) में अवैध प्रेम संबंध में विवाहिता ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी है। पुलिस ने विवाहिता को प्रेमी के साथ गिरफ्तार कर लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है।हरिहरपुर थाना क्षेत्र के दुर्गापाड़ा में युवक अशोक पासवान (32) की हत्या कर शव को कुएं में डाल दिया गया। आरोप है कि युवक की पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिल कर पति की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी पत्नी और उसके कथित प्रेमी को हिरासत में रखा है।

    अशोक का शव रविवार को कुएं से बरामद किया गया। हल्ला-हंगामा सुनकर काफी संख्या में लोग जुट गए। इसके बाद लोगों ने हरिहरपुर पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची और प्रेमी अजय मलाहकार को पकड़ लिया। मृतक की पत्नी सीमा देवी (प्रेमिका) को भी पुलिस ने गोमो स्टेशन से पकड़ कर हिरासत में लिया। दोनों घटना को अंजाम देकर भागने की फिराक में थे। दोनों को पुलिस ने पूरी रात हरिहरपुर थाने में रखा है।

    मृतक के चेहरे पर चोट के काफी गहरे निशान मिले। संभावना है कि किसी लोहे के हथियार से वार किया गया था। पुलिस ने कागजी कार्रवाई करने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अशोक पासवान गोमो से बाहर अपने गांव कैमूर भभूआ में पत्नी सीमा तथा बच्चों के साथ रहता था। दो तीन दिन पहले अजय मलाहकार सीमा को एक बच्चे के साथ गोमो भगा कर ले आया था।

  • झारखंड : टूटे पुलिया पर पार होने वाली थी ये ट्रैन, रेलवे कर्मचारियों की सूझबूझ से टला बड़ा हादसाझारखंड : टूटे पुलिया पर पार होने वाली थी ये ट्रैन, रेलवे कर्मचारियों की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा

    झारखंड | झारखंड में रेलवे (Railway) कर्मचारियों की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। गिरिडीह-मधुपुर रेलखंड स्थित भंडारीडीह के पास रेलवे (Railway) की एक पुलिया क्षतिग्रस्त हो गया है। सुबह 5:00 बजे गिरिडीह से मधुपुर जाने वाली DMU ट्रेन इसके ऊपर से होकर गुजरने वाली थी। तभी 200 मीटर पहले ट्रैक पर काम कर रहे कर्मचारियों ने लाल झंडी दिखाकर ट्रेन को रोकने में सफल रहे।

    इसके बाद ट्रेन में सवार सभी यात्रियों को नीचे उतारा कर, खाली ट्रेन को पुल से निकाला गया। इसके बाद पैसेंजर्स को ट्रेन में बिठाकर फिर से रवाना किया गया। इसके बाद रेलवे के ठेकेदार व कर्मचारी इसकी मरम्मत में लग गए। पटरी पर काम चलने के कारण सुबह नौ बजे मधुपुर से गिरिडीह वाली ट्रेन बाधित हो गई है। फिलहाल मरम्मत का काम चल रहा है। फिलहाल रेलवे के आला अधिकारियों की ओर से इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है.

  • रांची में क्यों चली सब्जी बेचने वाली पर गोली, पढ़िए पूरी खबर

    रांची | रांची में बदमाशों ने पुलिस को एक बार फिर से चुनौती दी है। आपको जान कर हैरानी होगी की रांची के रियातू थाना क्षेत्र स्थित चिरौंधी बाजार में एक सब्जी बेचने वाली बुजुर्ग महिला को अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी है। बुजुर्ग महिला का पोस्टमार्टम RIMS में भेजा गया है। महिला का नाम दुलारी देवी व उम्र 55 वर्ष बताया जा रहा है। महिला रोज़ चिरौंधी में सब्जी बेचती थी। पुलिस का कहना है कि बाइक पर सवार दो अपराधियों ने महिला को बिना किसी बात चित के गोली मार दि। दुलारी देवी की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी थी।

    पुलिस ने CCTV फुटेज के आधार पर अपराधियों को पकड़ने का प्रयास कर रही है। पुलिस का कहना है कि ये किसी जमीन विवाद के चलते वारदात को अंजाम दिया गया है। पुलिस जांच में जुटी है ।पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि दुलारी देवी के नाम पर बोड़या और अन्य इलाकों में कितनी जमीनें हैं।

    चाची से दुलारी देवी का चल रहा था विवाद

    बरियातू थानेदार ज्ञानरंजन ने मीडिया से कहा कि दुलारी देवी का विवाद अपनी चाची के साथ काफी दिनों से चल रहा है । विवाद पुस्तैनी कुछ जमीन को लेकर है। पुलिस इसकी जांच में जुटी है। सबकी भूमिका की पड़ताल हो रही है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही इस कांड का खुलासा कर लिया जाएगा।

  • मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से केंद्रीय सरना समिति एवं केंद्रीय स्थल, सिरमटोली, रांची का प्रतिनिधिमंडल ने किया मुलाकात

    मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से केंद्रीय सरना समिति एवं केंद्रीय स्थल, सिरमटोली, रांची का प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात किया। मुख्यमंत्री से प्रतिनिधिमंडल ने सरहुल पर्व में निकलने वाले शोभायात्रा के दौरान सरकार के स्तर पर मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कहा लोगों की धार्मिक भावनाओं के अनुरूप सरकार कार्य करेगी।

  • मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से जर्मनी के राजदूत वाल्टर जे. लिंडनर ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री से यह उनकी शिष्टाचार भेंट थी।

    मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से जर्मनी के राजदूत वाल्टर जे. लिंडनर ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री से यह उनकी शिष्टाचार भेंट थी।

  • सीमा सुरक्षा बल, हजारीबाग द्वारा आयोजित दीक्षांत परेड के अवसर पर माननीय राज्यपाल महोदय का सम्बोधन

    सर्वप्रथम, सीमा सुरक्षा बल के सभी नव आरक्षकों को सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने हेतु मैं हार्दिक बधाई व शुभकामनायें देता हूँ। सहायक प्रशिक्षण केंद्र, सीमा सुरक्षा बल, हजारीबाग के सभी अधिकारी व जवान भी बधाई के पात्र हैं जिन्होंने आप सभी के प्रशिक्षण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है l

    आज के इस गौरवमयी क्षण में आप सभी के बीच सम्मिलित होकर स्वयं को सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूँ।

    मुझे बताया गया कि आज के दीक्षांत परेड के कुल 369 नव आरक्षकों ने विभिन्न चुनौतियों से निबटने व राष्ट्र की रक्षा हेतु 44 सप्ताह का कठिन प्रशिक्षण लिया है। ये नव आरक्षक भारत के विभिन्न प्रान्तों के रहने वाले हैं।

    आप चाहे भारत के किसी हिस्से व कोने के रहने वाले हों, आपके लिए भारत माँ की सेवा और इसकी सुरक्षा अहम है। यही बात आपको ट्रेनिंग में भी सिखाई गई होगी। भारत सिर्फ जमीन का टुकड़ा ही नहीं, जीता जागता राष्ट्रपुरुष है। हमें जीना भी है इसके लिए और मरना भी है इसके लिए।

    मुझे आज भव्य परेड को देखने का अवसर मिला, इसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूँ। एक अनुकरणीय अनुशासन से भरपूर इस परेड के शानदार प्रदर्शन के लिये मैं आप सभी की सराहना करता हूँ।

    आज का दिन सीमा सुरक्षा बल के लिये विशेष है। आज आपने राष्ट्रीय ध्वज के समक्ष एक कर्तव्यनिष्ठ प्रहरी के रूप में देश की सेवा में अपने-आप को समर्पित करने की शपथ ली है। आज आप औपचारिक रूप से देश की प्रथम रक्षा पंक्ति सीमा सुरक्षा बल के महत्वपूर्ण सदस्य बन गये हैं।

    मुझे यह कहते हुए अत्यंत गर्व हो रहा है कि सीमा सुरक्षा बल का गौरवशाली इतिहास रहा है। हम सभी देशवासियों को आपके शौर्य पर गर्व है।

    सन् 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध में इस बल की अहम भूमिका अविस्मरणीय है। इसके जवानों ने अपने अदम्य साहस का अद्वितीय परिचय  दिया। इस अवसर पर मैं राष्ट्र की सुरक्षा में अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले बल के सभी वीर जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।

    इस अवसर पर मैं आप लोगों को, आपके माता-पिता एवं परिजनों को बधाई देता देता हूँ जिन्होंने भारत माँ की रक्षा के लिए, मातृभूमि की सेवा के लिए आपको प्रेरित किया। मैं कामना करता हूँ कि आप लोग देश के सच्चे सपूत के रूप में अपनी सभी जिम्मेदारियों का कुशलता से निभाएं।

    मेरे परिवार का भी सेना से गहरा रिश्ता है। मेरे परिवार के लोगों ने भी सेना में अपनी सेवायें दी है। मेरा मानना है कि जीवन जीने की प्रेरणा सेना से सीखना चाहिये। राष्ट्र प्रेम व अनुशासन का जो जज़्बा भारतीय सेनाओं में मिलेगा, वह किसी और से नहीं मिल सकता।

    आपकी कर्त्तव्य भावना, बहादुरी और निष्ठा को नमन है। देश जानता है कि आपका जीवन कठिन है, आपकी राहें कंटीली हैं और आपका जीवन तपस्या व बलिदान की गाथा है। आपका यह त्याग करोड़ों देशवासियों को अमन-चैन प्रदान करता है तथा देश को गर्वित महसूस कराता है।

    राजस्थान की तपती रेत से लेकर गुजरात के रण के दलदली इलाके सहित कश्मीर की बर्फीली चोटियों जैसे जटिल भौगोलिक परिवेश और कठिन से कठिन स्थितियों में भी आप सीमाओं पर निरंतर डटे रहते हैं।

    सीमा पार से होने वाली गोलीबारी हो या फिर विभिन्न वस्तुओं की तस्करी सहित अन्य सीमावर्ती अपराध, देश को नुकसान पहुंचाने वाले देश के दुश्मनों के खिलाफ आप फौलाद की तरह खड़े हैं।

    चुनाव, दंगों इत्यादि सहित प्राकृतिक आपदाओं के दौरान भी आप पूरी तत्परता से देश के साथ खड़े रहते हैं। अपनी वीरता और देश के प्रति समर्पण भाव के कारण इस बल ने जनमानस में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है।

    एक बार पुनः सभी नव आरक्षकों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ।

  • चीन के साथ संबंध सामान्य नहीं : विदेश मंत्री एस जयशंकर

    नई दिल्ली, 25 मार्च। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आज साफ शब्दों में कहा कि भारत और चीन के बीच संबंध सामान्य नहीं हैं क्योंकि समझौतों के विपरीत सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिक तैनात हैं।

    पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के बिना गुरूवार शाम यहां पहुंचे चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ शुक्रवार को वार्ता के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने विदेश मंत्री को देश की भावना से अवगत कराते हुए कहा है कि सीमा पर शांति स्थिर संबंधों के लिए जरूरी है।

    उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि मौजूदा समय में चीन के साथ हमारे संबंध सामान्य नहीं हैं क्याेंकि दोनों देशों के बीच 1993 से 96 के बीच हुए समझौतों के विपरीत सीमाओं पर बड़ी संख्या में सैनिक तैनात हैं।

    श्री जयशंकर ने कहा कि जब तक इतनी बड़ी संख्या में सैनिक तैनात हैं तो सीमा पर स्थिति सामान्य नहीं है। दोनों देशों के बीच अभी भी टकराव के मुद्दे हैं। कुछ मुद्दों के समाधान की दिशा में प्रगति हुई है जिनमें पेगोंग झील क्षेत्र का मुद्दा भी शामिल है। मुद्दों के समाधान के लिए अब तक 15 दौर की बात हो चुकी है और आज यह बात हुई कि वार्ता को आगे कैसे बढाया जाये।

    उन्होंने कहा कि मुद्दों के समाधान की दिशा में काम किया जा रहा है लेकिन यह बहुत धीमा है। इसे तेज किया जाना चाहिए क्योंकि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने के लिए सैनिकों को विवाद की जगहों से पूरी तरह हटाया जाना जरूरी है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सीमा से लगते क्षेत्रों में स्थिति के समाधान के लिए कोई समय सीमा निश्चित नहीं की गयी है ।

    यह पूछे जाने पर कि क्या बातचीत के दौरान इस्लामिक सहयोग संगठन का मुद्दा भी उठा, श्री जयशंकर ने कहा कि हां इस बारे में बात हुई। उन्होंने चीन के समक्ष इस संबंध में भारत की आपत्ति को भी स्पष्ट रूप से रखा। उन्होंने कहा कि भारत उम्मीद रखता है कि चीन भारत के संबंध में स्वतंत्र नीति अपनायेगा और उसकी नीति किसी अन्य देश से प्रभावित नहीं होगी।

    विदेश मंत्री ने कहा कि उनकी चीन के समकक्ष के साथ करीब तीन घंटे तक मुलाकात हुई और इस दौरान खुले तथा स्पष्ट ढंग से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के बीच अफगानिस्तान और यूक्रेन सहित प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी बातचीत हुई। एक सवाल के जवाब में उन्होंनेे कहा कि इस दौरान क्वाड के बारे में कोई बात नहीं हुई।

    विदेश मंत्री ने कहा कि उन्होंने कोविड पाबंदियों के कारण स्वेदश लौटे भारतीय मेडिकल छात्रों के पढने के लिए वापस चीन नहीं जा पाने का मुद्दा भी उठाया । उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि चीन इस संबंध में कोई भेदभाव नहीं करेगा क्योंकि यह अनेक युवा लोगों के भविष्य से जुड़ा मामला है। उन्होंने कहा कि चीनी विदेश मंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया है कि वह संबंधित अधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे।

    श्री जयशंकर ने कहा कि अफगानिस्तान पर भारत की नीति संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 2593 के अनुरूप है। यूक्रेन के बारे में दोनों देशों ने अपने अपने रूख और दृष्टिकोण को रखा और इस बात पर सहमति व्यक्त की कि कूटनीति तथा बातचीत को प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

Back to top button
error: Content is protected !!