Month: March 2022

  • देवघर ; श्रद्धालुओं को सुगम जलार्पण कराने के लिए विशेषज्ञों ने रुट लाइन का किया निरीक्षण

    देवघर | देवघर (Devghar) उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी मंजुनाथ भजंत्री द्वारा बाबा मंदिर में देश-विदेश से आनेवाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा के साथ-साथ सुगम एवं सुरक्षित जलार्पण कराने के उद्देश्य से आईआईटी बॉम्बे के विशेषज्ञ टीम व संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ मंदिर व रुट लाइन का निरीक्षण कर वस्तुस्थिति का जायजा किया। इस दौरान उपायुक्त द्वारा क्यू काम्प्लेक्स, फुटओवर ब्रिज, संस्कार मंडप होते गर्भगृह तक श्रद्धालुओं को किस तरह से व्यवस्थित रूप से कतारबद्ध और सुरक्षित ले जाया जाय एवं जलार्पण के उपरांत निकास द्वार से मंदिर प्रांगण होते हुए श्रद्धालुओं को किस तरह से सुगमतापूर्वक मंदिर से बाहर निकाला जाय आदि विभिन्न बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा की गई। साथ ही उपायुक्त द्वारा आईआईटी बॉम्बे के विशेषज्ञ टीम को निर्देशित किया गया कि श्रद्धालुओं हेतु बेहतर व सुरक्षित जलार्पण को लेकर मंदिर व रुट लाइन का निरीक्षण करने के पश्चात क्या टीम की रणनीति हैं इसकी भी जानकारी दे, ताकि जल्द से जल्द श्रद्धालुओं के बेहतरी हेतु कार्य प्रारंभ किया जा सके।

    इसके अलावे उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि श्रावणी मेला व अन्य महत्वपूर्ण दिवसों पर श्रद्धालुओं की संख्या काफी ज्यादा होती हैं। ऐसे में श्रद्धालुओं को किस तरह से बेहतर प्रबंधन के साथ जलार्पण कराया जा सके इन्ही सब बातों को लेकर निरीक्षण किया गया। साथ ही किस रणनीति के तहत कार्य किया जाना है इसपर विस्तृत चर्चा की गई। जल्द ही जिला स्तर पर इस दिशा में कार्य प्रारंभ किया जाएगा।

    इस मौके पर पुलिस अधीक्षक धनंजय कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी-सह मंदिर प्रभारी दिनेश कुमार यादव, प्रशिक्षु आईएएस अनिकेत सच्चन, जिला जनसंपर्क पददाधिकारी रवि कुमार, मंदिर प्रबंधक, संबंधित विभाग के कार्यपालक अभियंता, आईआईटी बॉम्बे के विशेषज्ञ टीम, डीसी सेल से चिनमय पाटिल, छप्पा किरण, आदि उपस्थित थे।

  • झारखण्ड में रामनवमी जुलूस को मिली हरी झंडी, शर्तों के साथ निकलेगा जुलुस

    रांची। कोरोना (CORONA) काल के बाद पहली बार झारखंड में रामनवमी जुलूस निकाले जाने की बात आ रही है । रामनवमी के साथ-साथ सरहुल के मौके पर भी जुलूस निकाला जा सकता है।सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार ने इसके लिए हरी झंडी दिखा दी है। विधिवत अनुमति मिल जाती है तो 2 साल बाद राज्य में रामनवमी और सरहुल के मौके पर जुलूस का आयोजन किया जाएग। बताया जा रहा है जुलूस के लिए कुछ शर्तें भी निर्धारित की गई है ताकि कोविड गाइडलाइंस का पालन हो सके।

    जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने जुलूस के लिए s.o.p. बनाए जाने का निर्देश दिया है। इसे तैयार करने की जिम्मेदारी मुख्य सचिव सुखदेव सिंह की है। 2 दिनों में एस ओ पी जारी हो जाने की संभावना जताई जा रही है। माना जा रहा है कि चेहरे पर मास्क, कम भीड़ के साथ जुलूस, अलग-अलग टुकड़ों और निर्धारित समय के शर्तों के साथ जुलूस की अनुमति दी जाएगी है। उसके बाद विभिन्न अखाड़ा और कमेटियां सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार जुलूस निकाल सकते हैं।

     

     

     

     

     

  • मासूमों को फ़साने का काम करते थे सिपाही, हाई कोर्ट ने बर्खास्त के फैशले को बताया सही

    रांची। झारखंड हाई कोर्ट ने हजारीबाग बरही थाने के छह सिपाहियों को सेवा से बर्खास्त करने को एकदम सही फैशला बताया है। अदालत ने एकलपीठ के उस आदेश को खारिज कर दिया, जिसमें अदालत ने सरकार को इनकी बर्खास्तगी पर पुनर्विचार करने का आदेश मिला था। जस्टिस एस चंद्रशेखर व जस्टिस रत्नाकर भेंगरा की अदालत में कहा कि राज्य सरकार का फैसला बिल्कुल सही है। इसमें किसी प्रकार की हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है।

    सभी सिपाहियों को तीन बेगुनाह को फर्जी केस में फंसाने के मामले में सरकार ने वर्ष 2012 में बर्खास्त कर दिया था। इस मामले में सरकार की ओर से एकल पीठ के आदेश के खिलाफ खंडपीठ में अपील दाखिल की गई थी। सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से बताया गया कि वर्ष 2007 में लल्लू कुमार, चंदन ठाकुर और बिट्टू कुमार बोलेरो से जा रहे थे, तभी बरही थाने में कुछ पुलिसकर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया। इसके बाद साजिश के तहत लल्लू के भाई से अपहरण की बात कहते हुए रंगदारी की मांग की।

    रंगदारी नहीं मिलने पर तीनों के खिलाफ पुलिस ने फर्जी केस (158/2007) दर्ज कर लिया। इसके बाद लल्लू के भाई ने सरकार से पूरे मामले की जांच की मांग की। सरकार ने इसकी जांच सीआइडी को सौंप दी। सीआइडी जांच में फर्जी केस में फंसाने का मामला सही पाया गया। इसके बाद इनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई।

    विभागीय कार्रवाई के बाद छह पुलिस कर्मी हरीशचंद्र पाल भगत, मो शमशेद खान, कौशल कुमार सिंह, रुपेश कुमार, शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, और अजय कुमार चौरसिया को वर्ष 2012 में सेवा से बर्खास्त कर दिया गया। इसके बाद इन लोगों ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की। जुलाई 2017 में एकल पीठ ने इनकी सजा पर पुनर्विचार करने के लिए मामला सरकार के पास भेज दिया। इसके खिलाफ सरकार ने खंडपीठ में अपील दाखिल की थी।

  • बेंगाबाद-चतरो मुख्य मार्ग बड़ा सड़क हदशा मोटरसाइकिल की नंबर प्लाट से किया गया पहचान

    बेंगाबाद-चतरो मुख्य मार्ग स्थित छोटकीखरगडीहा के समीप अज्ञात ट्रक ने एक मोटरसाइकिल को अपनी चपेट में ले लिया। बाइक सवार युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।घटना की खबर मिलते ही स्थानीय ग्रामीण जमा हुए तब तक वाहन फरार हो चुकी थी।

    मोटरसाइकिल सवार युवक को सिर कुचल दिए जाने से शव की पहचान नहीं हो पा रही थी।लोगों ने मोटरसाइकिल का नंबर देखकर पहचान किया। मामले की जानकारी के बाद थाना प्रभारी प्रदीप कुमार एएसआई विजय कुमार यादव अंचलाधिकारी कृष्ण कुमार मरांडी सहित सदल बल के साथ घटनास्थल पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लेकर पंचनामा करते हुए सदर अस्पताल गिरिडीह को शौफ दिया।

    कैसे हुई घटना

    जमुआ थाना क्षेत्र के मलुवाटांड कुरहोबिंदु निवासी सहदेव यादव के 45 वर्षीय पुत्र जयप्रकाश नारायण यादव अपने बहन घर खरियोडीह से अपने घर वापस लौट रहे थे। लौटने के क्रम में नायक पब्लिक स्कूल छोटकीखरगडीहा के समीप बेंगाबाद की ओर से आ रही अज्ञात सिमेंट लदी ट्रक ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। युवक के ऊपर ट्रक कुचलता हुआ फरार हो गया।जिससे युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गई।

    ट्रक का पीछा किया गया लेकिन ट्रक भागने में सफल रहा। प्रशासन को शव उठाने के पूर्व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने मुआवजा की मांग की। मौके पर पहुंचे बेंगाबाद अंचला अधिकारी कृष्ण कुमार मरांडी ने कहा कि सड़क दुर्घटना में सरकार की ओर से जो भी प्रावधान बनाता है, उसे दिलाने की अथक प्रयास किया जाएगा। मृतक जयप्रकाश नारायण बीमा का एजेंट था अपने पीछे तीन पुत्री एक पुत्र सहित अपनी पत्नी छोड़ गया। इस आकस्मिक घटना होने से पीड़ित परिवारों पर पहाड़ों का बोझ टूट पड़ा। इधर इस मामले में थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने कहा है कि घटना की जांच की जा रही है।

  • झारखण्ड : जानिएं आज क्या रही पेट्रोल और डीजल की कीमते , कितने की हुई बढ़ोतरी

    रांची। पेट्रोल और डीजल की कीमत लगातार बढ़ रही है। सरकारी तेल कंपनियों ने आज 9वें दिन भी पेट्रो उत्पादों की कीमतों को बढ़ा दिया है। इधर, पेट्रो उत्पादों की कीमतों में लगातार वृद्धि से आम आदमी महंगाई के बोझ से हलकान है। 137 दिन के विराम के बाद सरकारी तेल कंपनियों ने मंगलवार, 22 मार्च को ही पेट्रोल और डीजल के दाम में भारी वृद्धि हुई थी, जो आज भी लगातार जारी है। आज पेट्रोल की कीमत में जहां 81 पैसे प्रति लीटर के वृद्धि हुई है। वहीं, डीजल भी 84 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है।

    राजधानी में पेट्रोल-डीजल के मूल्य

    आपको बता दें कि सरकारी तेल कंपनियों ने इस कारोबारी सप्ताह के तीसरे दिन यानी बुधवार, 30 मार्च को भी राजधानी रांची में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में क्रमशः 81 और 84 पैसे की वृद्धि कर दी है। राजधानी के पेट्रोल पंपों पर आज पेट्रोल की कीमत जहां बढ़कर 104.22 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई है। वहीं, डीजल भी 97.42 रुपये प्रति लीटर हो गया है। मंगलवार से अब तक पेट्रोल कीमत में 5.70 रुपये और डीजल के मूल्य में 5.86 रुपये की वृद्धि हो गई है। आपको बता दें कि बीते कल भी इनकी कीमतों में क्रमशः 82 और 73 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई थी। इस प्रकार नौ दिनों के अंतराल में आठ बार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़े हैं। उल्लेखनीय है कि 137 दिन के लंबे विराम के बाद सरकारी तेल कंपनियों में मंगलवार, 22 मार्च को पेट्रोल और डीजल के दाम में भारी वृद्धि कर थी। यह वृद्धि 23 मार्च को भी जारी रही। गुरुवार, 24 मार्च को सरकारी तेल कंपनियों ने आम लोगों को राहत देते हुए पेट्रो उत्पादों की कीमतों को स्थिर रखा था। लेकिन उसके बाद से फिर इनकी कीमतें लगातार आगे की ओर भागती जा रही हैं।

    एक्साइज ड्यूटी में कटौती के बाद नवंबर, 2021 से स्थिर थे मूल्य

    आपको याद दिला दें कि 4 नवंबर, 2021 से केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में क्रमश: 05 और 10 रुपये की कटौती के बाद से तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतें स्थिर ही रखी थीं। इसके चलते आम लोगों ने सोमवार, 21 मार्च तक रांची में पेट्रोल 98.52 रुपये प्रति लीटर और डीजल 91.56 रुपये प्रति लीटर की दर से खरीदी थी। इधर, चार माह बाद पेट्रो उत्पादों के दाम बढ़ने से महंगाई भी बढ़ने लगी है। इससे आम लोगों के जेब पर महंगाई का असर पड़ना तय है।

    रांची में पेट्रोल-डीजल का बुधवार (30 मार्च) का रेट

    पेट्रोल : 104.22 रुपये (प्रति लीटर)
    डीजल : 97.42 रुपये (प्रति लीटर)
    22 से 29 मार्च तक ये थे रेट

    मंगलवार (29 मार्च) : पेट्रोल : 103.41 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 96.58 रुपये (प्रति लीटर)
    सोमवार (28 मार्च) : पेट्रोल : 102.59 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 95.85 रुपये (प्रति लीटर)
    रविवार (27 मार्च) : पेट्रोल : 102.28 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 95.49 रुपये (प्रति लीटर)
    शनिवार (26 मार्च) : पेट्रोल : 101.77 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 94.91 रुपये (प्रति लीटर)
    शुक्रवार (25 मार्च) : पेट्रोल : 100.96 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 94.08 रुपये (प्रति लीटर)
    गुरुवार (24 मार्च) : पेट्रोल : 100.14 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 93.24 रुपये (प्रति लीटर)
    बुधवार (23 मार्च) : पेट्रोल : 100.14 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 93.24 रुपये (प्रति लीटर)
    मंगलवार (22 मार्च) : पेट्रोल : 99.33 रुपये (प्रति लीटर), डीजल : 92.41 रुपये (प्रति लीटर)
    नवंबर, 2021 से 21 मार्च, 2022 तक का रेट

    पेट्रोल : 98.52 रुपये (प्रति लीटर)
    डीजल : 91.56 रुपये (प्रति लीटर)
    रोज सुबह छह बजे तय होते हैं पेट्रोल-डीजल के मूल्य

    आपको बता दें कि पेट्रोल और डीजल के मूल्य हर रोज सुबह छह बजे तय होते हैं। विदेशी मुद्रा दरों के साथ इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत के आधार पर पेट्रोल-डीजल के मूल्य प्रतिदिन तय किए जाते हैं। इंडियन आयल के अलावा भारत पेट्रोलियम एवं हिंदुस्तान पेट्रोलियम हर रोज सुबह छह बजे विभिन्न शहरों के पेट्रोल-डीजल के मूल्य तय कर जारी करते हैं।

  • झारखंड में आज हेमंत सरकार लेगी बड़ा फैशला, नई नीतियों में संशोधन और बदलाव पर होगी चर्चा

    रांची। इस बार राज्य कैबिनेट की बैठक में बहुत सारी नीतियों में संशोधन और बदलाव पर चर्चा होगी। इनमें सबसे महत्वपूर्ण खेल नीति का रहा है। राज्य में पहली बार इस तरह की नीति तैयार होने की बात सामने आयी है । इसके अलावा प्रदेश में उत्पाद नीति में भी संशोधन की संभावनाएं प्रबल हैं और इसके लिए भी कैबिनेट में प्रस्ताव आना लगभग तय है। इसके अलावा उद्योग विभाग की दो नीतियां भी लंबे समय से पाइपलाइन में हैं और इनपर भी विचार होने की बात कही जा रही है। ये नीतियां हैं इलेक्ट्रिक वाहन नीति और औद्योगिक पार्क नीति जो अगले पांच वर्षों के लिए तैयार की जा चुकी हैं। इन नीतियों के बाद उद्योग क्षेत्र के माहौल में बदलाव की उम्मीद सरकार कर रही है।

    नीतियों के अलावा स्वास्थ्य विभाग में बाहरी एजेंसियों के काम करने के लिए रास्ता खुलता दिख रहा है। यहां प्रोजेक्ट मानीटरिंग यूनिट का गठन होगा जिसमें एक्सपर्ट बहाल होंगे। ये एक्सपर्ट 15वें वित्त आयोग की योजनाओं, आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के क्रियान्वयन पर फोकस करेगी। इसके साथ ही पहले से कैबिनेट की प्रत्याशा में लिए गए कुछ निर्णयों को भी कैबिनेट की बैठक में लाया जाएगा। सूत्रों के अनुसार बैठक में दो दर्जन से अधिक प्रस्ताव विचारार्थ लाए जा सकते हैं।

    मार्च लूट से बचने को कड़े इंतजाम

    राज्य सरकार के विभिन्न विभाग मंगलवार की शाम तक लगभग 68 हजार करोड़ रुपये खर्च करने की ओर बढ़ते दिखाई दिए। सभी ट्रेजरी में देर तक काम होने के कारण घड़ी-घड़ी आंकड़े बदलते रहे। आंकड़ों के लिहाज से पिछले वर्ष का रिकार्ड अब टूट चुका है। सरकार के लिए राहत की बात यह दिख रही है कि योजना मद के तहत आवंटित निधि में से 65 फीसद से अधिक राशि खर्च की जा चुकी थी। कार्य विभागों को भी अंतिम समय तक राशि मिलती रही और इसकी निकासी भी होती रही।

    वित्तीय वर्ष के दो ही दिन शेष बचे हैं जिस कारण से विभाग भी कड़ी निगरानी रख रहा है। राज्य सरकार के विभिन्न विभागों की ओर से खर्च राशि का आंकड़ा वर्तमान में 68 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है। मंगलवार की शाम तक इस आंकड़े में बढ़ोतरी की प्रक्रिया जारी थी। विभागीय अधिकारी को भी लगातार अपडेट आंकड़ों की जानकारी दी जा रही थी। अंतिम समय में अधिसंख्य निकासियां कार्य विभागों से संबंधित रही हैं। वित्त विभाग भी इन मामलों में लचीला रुख अपनाए हुए हैं, हालांकि कहीं से भी नियमों में ढील नहीं दी जा रही है।

  • गिरिडीह : डायन होने का आरोप लगाकर महिला क जानलेवा हमला करने की कोशिश

    जिला के बेंगाबाद थाना क्षेत्र के पिपरीटांड़ निवासी शिवशंकर महतो की 35वर्षीय पत्नी रूना देवी को उसके भैंसुर, गोतनी ने अपने बेटे और बहू के साथ मिलकर रुना देवी पर डायन होने का आरोप लगाते हुए गाली गलौज करने और जानलेवा हमला करने का मामला प्रकाश में आया। स्थानीय लोगों का कहना है कि दोनों में पुरानी रंजिश जमीन को लेकर चल रही है।

    स्थानीय लोगों का कहना है कि एक अकेली औरत को घर में घुसकर मारपीट करना अन्याय है अभियुक्तों पर प्रशासन कठोर कानूनी कार्रवाई कर सजा दे। रूणा देवी ने उचित कार्यवाही हेतु बेंगाबाद थामा प्रभारी को आवेदन दिया है। रुणा देवी का प्राथमिक उपचार बेंगाबाद रेफरल अस्पताल में करने के बाद गिरिडीह सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया जहां से आज बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच धनबाद रेफर कर दिया गया।

  • धनबाद : शो रूम में काम करने वाली लड़की हुई लव जिहाद का शिकार, पढ़े पूरी खबर

    धनबाद :  देश के कई प्रदेशों में लव जिहाद के खिलाफ सरकार ने कानून भी बना रखा है। लेकिन झारखंड में अब तक ऐसा कुछ नहीं है। जिससे राज्य भर में लव जिहाद के कई मामले सामने आ चुके हैं।ऐसा ही लव जिहाद का एक मामला धनबाद में मंगलवार को सामने आया। जिसमें पीड़िता ने आरोप लगाया है कि वह सरायढेला धनबाद के एक शोरूम में काम करती थी। जहां से युवक ने किसी के माध्यम से उसका मोबाइल नंबर लिया। फिर मोबाइल पर दोनों के बीच बातचीत होने लगा।

    जिसके बाद उन लोगों में प्यार हो गया। युवती का कहना है कि युवक ने उसे अपना धर्म हिंदू बताया था। परंतु प्रेम प्रसंग के दौरान शारीरिक संबंध बन जाने के कुछ महीने बाद उसे पता चला कि युवक मुस्लिम है। जिसके बाद उसके पैर तले जमीन खिसक गई। ऐसे में और कोई विकल्प नहीं बचता देख लड़की ने युवक पर शादी का दबाव बनाया, तो समाज के दबाव में लड़के ने शादी रचा ली।

    पीड़िता ने शिकायत में बताया है कि शादी के 2 महीने बाद तक युवक का व्यवहार उसके प्रति ठीक रहा। लेकिन जब वह गर्भवती हो गई तो युवक और उसके माता-पिता उसे प्रताड़ित करने लगे। जिसके बाद युवती की ओर से कुछ लोगों ने समझौता कराया। लेकिन कुछ दिनों के बाद फिर युवक ने युवती पर धर्म परिवर्तन करने और प्रतिबंधित मांस खाने खिलाने का जबरन प्रयास किया।

    जिसका विरोध करने पर उसे पूरी तरह मारा-पीटा गया और कैद कर लिया गया। फिर मौका पाकर पीड़िता एक दिन लड़के के चंगुल से फरार होने में कामयाब हो गई। जिसके बाद युवती धनबाद महिला थाना पहुंची। जहां उसने पुलिस को लिखित आवेदन देकर शिकायत दर्ज कराया है।हालांकि महिला थाना प्रभारी इस मामले पर कुछ भी बोले से इनकार कर रही है ।

  • चतरा: हंटरगंज थाना पुलिस की बड़ी कार्रवाई ; पुण्डरीकला गांव से मिला 16 किलो गांजा

    चतरा | नशे के सौदागरों के विरुद्ध लगातार चल रही चतरा पुलिस की बड़ी कार्रवाई। हंटरगंज थाना पुलिस (Police) ने की बड़ी कार्रवाई, पुण्डरीकला गांव के एक व्यक्ति को घर से ही 16 किलो गांजा के साथ किया गिरफ्तार। चतरा जिले में तेजी से पांव पसारने में में जुटे अंतरराज्यीय गांजा माफिया गैंग के विरुद्ध हंटरगंज पुलिस की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रशिक्षु डीएसपी धनंजय राम ने बताया कि चतरा पुलिस अधीक्षक राकेश रंजन को लगातार सूचना मिल रही थी कि हंटरगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पुण्डरीकला से अवैध गांजा का कारोबार बड़े पैमाने पर हो रहा है. सीमावर्ती इलाकों में तस्करों द्वारा लगातार बिक्री किया जा रहा है।

    सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए थाना क्षेत्र में स्पेशल ड्राइव चला कर पुलिस की टीम ने कार्रवाई की है। उन्होंने बताया कि ग्राम पुण्डरीकला में प्रताप सिंह पिता स्वर्गीय कमला सिंह के घर से 16 किलो अवैध गांजा बरामद कर जप्त किया है और साथ हीं प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि जिले में किसी भी परिस्थिति में नासा सौदागरों को पांव पसारने की इजाजत नहीं दी जाएगी नहीं तो वह अपना रास्ता बदले और परिवार के साथ सुखमय जीवन व्यापन करें, अगर नहीं माने तो चतरा पुलिस की ओर से होगी बड़ी करवाई।

    इस संबंध में हंटरगंज पुलिस की ओर से प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। छापामारी टीम में प्रशिक्षु डीएसपी धनंजय राम, अंचल अधिकारी मिथिलेश प्रसाद, पुलिस निरीक्षक प्रमोद पांडे, पुलिस अवर निरीक्षक सचिन दास, निरंजन कुमार एवं सशस्त्र बल के जवान थें शामिल।

  • ज्ञान प्रकाश सरावगी को रिमांड पर लेने के लिए ED करेगा अनुरोध, बैंक घोटाले मामले में हुए थे गिरफ्तार

    रांची | प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 75 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले में शामिल ज्ञान प्रकाश सरावगी को गिरफ्तार किया है . यह गिरफ्तारी मनी लाउंड्रिंग के आरोप में सरावगी बंधुओं के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के मद्देनजर हुई है. इडी (ED) ने ज्ञान प्रकाश को पूछताछ के लिए अपने कार्यालय में बुलाया था. उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया. इडी द्वारा दर्ज प्राथमिकी में सरावगी बंधुओं के अलावा सीए अनीस अग्रवाल को अभियुक्त बना दिया गया है.

    सवालों का जवाब नहीं दे पा रहा था ज्ञान प्रकाश :

    इडी ने बीओआइ में हुए 75 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले की जांच के दौरान पूछताछ के लिए ज्ञान प्रकाश सरावगी को सम्मन भेजा था. पिछले डेढ़ महीने से टालमटोल करने के बाद ज्ञान सरावगी मंगलवार को इडी के दफ्तर में हाजिर हुआ. हालांकि वह इडी अधिकारियों के किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे रहा था. विभिन्न कंपनियों के नाम पर कर्ज लेने के लिए बैंक में बतौर गिरवी जमा किये गये जमीन और फ्लैट से संबंधित दस्तावेज की जानकारी भी नहीं दे रहा था.

    आज रिमांड पर देने का किया जायेगा अनुरोध :

    ज्ञान प्रकाश को बुधवार को न्यायालय के समक्ष पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर देने का अनुरोध किया जायेगा. इडी द्वारा दर्ज प्राथमिकी में यह आरोप लगाया गया है कि सरावगी बंधुओं ने कागजी कंपनियां बनायीं. इसके बाद कंपनी का फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंक से कर्ज लिया. बैंक से लिये गये कर्ज को फर्जी व्यापार दिखा कर कर्ज की रकम को दूसरी कागजी कंपनियों के नाम पर ट्रांसफर किया. इसके बाद इस रकम को सरावगी बिल्डर्स एंड प्रोमेटर्स के खाते में ट्रांसफर किया. इडी की प्राथमिकी में सरावगी बंधुओं की कंपनियों के अलावा सीए अनीस अग्रवाल को भी अभियुक्त बनाया गया है.

Back to top button
error: Content is protected !!