JHARKHAND

मोमेंटम झारखंड में देश का सबसे बड़ा घोटाला, आरटीआई के हवाले से हुआ खुलासा

झामुमो केंद्रीय समिति के सदस्य सुप्रियो भट्टाचार्य ने दावा किया है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यकाल में हुए मोमेंटम झारखंड में देश का सबसे बड़ा घोटाला हुआ है। उन्होंने आरटीआई के माध्यम से प्राप्त जानकारी के हवाले से खुलासा करते हुए बताया कि वर्ष 2017 में हुए मोमेंटम झारखंड में 22 कंपनियों के साथ एमओयू हुआ था उसमें से 11 कंपनियां मोमेंटम झारखंड के ठीक पहले बनाई गई थीं। उन्होंने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि मोमेंटम झारखंड का लाभ लेने के उद्देश्य से ही इन कंपनियों को बनाया गया था। उन्होंने कंपनियों के नाम भी उपलब्ध कराये हैं।

कंपनियों को जमीन आवंटन में गड़बड़ी

उन्होंने कहा कि मोमेंटम झारखंड में 238 एमओयू किये गये। इनमें से 13 एमओयू विदेशी कंपनियों, 74 एमओयू झारखंड की कंपनियों और बाकी एमओयू अन्य राज्यों की कंपनियों के साथ हुए। चार चरणों में की गई ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 350 कुल जमीन आवंटन हुए है, जिसमें से एक भी आवंटन विदेशी कंपनी को नहीं दिया गया। 325 जमीन आवंटन ऐसी 320 कंपनियों के साथ किये गये जिन्होंने मोमेंटम झारखंड के तहत 2017 में सरकार के साथ कोई एमओयू नहीं किया था। सुप्रियो के मुताबिक 238 एमओयू में से केवल 25 एमओयू में 22 कंपनियों के निवेशकों को ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के तहत जमीन अवंटित हुई। सुप्रियो ने कहा कि भाजपा राजनीति पागलपन की हद पर जाकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अयोग्य साबित करने के लिये ये भं जनता में फैला रही है। ताकि, किसी तरह राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!