GamesSPORTS

चेक बाउंस मामला : जेल में बंद है आरोपी क्रिकेटर मृणांक सिंह को पेशी के लिए बुलाया कोर्ट

ऋषभ पंत आज के चहिते खिलाडी है इनको आज की युवा पीढ़ी बहुत ही पसंद करती है। ऐसे में उन्होंने जो चेक बाउंस मामला दर्ज़ कराया है वो बहुत ही सुर्खियों में बना हुआ है। दिल्ली की एक अदालत ने हाल ही में क्रिकेटर ऋषभ पंत द्वारा दायर चेक बाउंस मामले में आरोपी हरियाणा के क्रिकेटर मृणांक सिंह को पेश करने के लिए मुंबई की आर्थर रोड जेल के अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। दिल्ली कैपिटल के क्रिकेटर और कप्तान ऋषभ पंत ने आरोप लगाया है कि मृणांक सिंह ने भारी छूट पर महंगी घड़ियों और अन्य सामान दिलाने के बहाने उनसे 1.63 करोड़ रुपये ठग लिए। मृणांक एक व्यापारी की शिकायत पर मुंबई के जुहू थाने में दर्ज कराए गए धोखाधड़ी के एक अन्य मामले में आर्थर रोड जेल में बंद है।

साकेत कोर्ट के मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अभितेश कुमार ने 13 मई को आर्थर रोड जेल अधिकारियों को 19 जुलाई 2022 को सुनवाई की अगली तारीख पर मृणांक को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए अदालत में पेश करने का नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने संबंधित एसएचओ को नोटिस की तामील करने का निर्देश दिया है। अदालत को बताया गया कि मृणांक सिंह जुहू पुलिस स्टेशन, मुंबई में दर्ज एक मामले के सिलसिले में 3 मई 2022 से आर्थर रोड जेल में बंद है।

पंत ने अपने मैनेजर पुनीत सोलंकी के जरिए मृणांक सिंह के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि चेक बाउंस के जरिए उनसे 1.63 करोड़ रुपये ठगे गए। शिकायतकर्ता ने अंतरिम मुआवजे की भी मांग की है।शिकायत में कहा गया है कि मृणांक ने ऋषभ पंत को बताया था कि उसने लग्जरी घड़ियों, मोबाइल और आभूषणों का व्यवसाय शुरू किया है और वह इन वस्तुओं को छूट पर खरीद सकते हैं। उसने ऋषभ से यह भी कहा कि वह उनके महंगे सामान जैसे घड़ियां, गहने और अन्य सामान अच्छी कीमत पर बेच सकता है।

शिकायत में कहा गया है कि पंत 36.25 लाख रुपये और 62.60 लाख रुपये मूल्य की अपनी दो आयातित घड़ियां बेचना चाहते थे और दोनों वस्तुएं को मृणांक को सौंप दी थीं। इसके अलावा, पंत ने उन्हें विभिन्न लक्जरी सामान खरीदने के लिए 2 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किया था।

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!